एन.आर.ई.जी.एस.- एम.पी.योजना के अन्तर्गत प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन


एन.आर.ई.जी.एस.- एम.पी.योजना के अन्तर्गत प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन

 

मुरैना 27 दिसम्बर 2007 // एन.आर.ई.जी.एस.-एम.पी.योजनान्तर्गत जनपद पंचायतों में प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में किया जा रहा है । मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत श्री अभय वर्मा के अनुसार ये प्रशिक्षण कार्यक्रम जनपद पंचायत सबलगढ़ तथा कैलारस में 28 दिसम्बर,07 को, पहाडगढ़ तथा जौरा में 29 दिसम्बर को तथा जनपद पंचायत मुरैना में 31 दिसम्बर 07 को प्रात: 10 बजे से आयोजित किए जाएंगे । समस्त अनुविभागीय अधिकारियों (राजस्व) एवं जनपद पंचायतों के कार्यपालन अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों में सरपंचों, जनपद प्रतिनिधियों, जिला प्रतिनिधियों, ग्राम पंचायत सचिवों व अनुविभाग स्तर के अधिकारियों का बैठक में उपस्थित होना सुनिश्चित करें ।

 

चार सोनोग्राफी सेन्टरों के पंजीयन निरस्त


चार सोनोग्राफी सेन्टरों के पंजीयन निरस्त

मुरैना 28 नवम्बर 2007 // कलेक्टर एवं प्राधिकृत अधिकारी प्रसव पूर्व निदान तकनीक अधिनियम श्री आकाश त्रिपाठी ने अनियमितायें पाये जाने के कारण चार सोनोग्राफी सेन्टरों के पंजीयन निरस्त कर दिए हैं । यह कार्रवाई गत दिवस सोनोग्राफी सेन्टरों की जांच के दौरान अनियमिततायें पाये जाने के कारण की गई ।

       ज्ञात हो कि कलेक्टर श्री त्रिपाठी के निर्देशानुसार अपर कलेक्टर श्री उपेन्द्र नाथ शर्मा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अभय कुमार वर्मा, संयुक्त कलेक्टर श्री आशकृत तिवारी, एसडीएम मुरैना श्री विजय अग्रवाल, एस.डी.एम. अम्बाह श्री अमरेश श्रीवास्तव और तहसीलदार श्री बी.पी. श्रीवास्तव के दल ने विगत दिवस सोनोग्राफी  केन्द्रों की जांच कर प्रतिवेदन सौंपा । जांच प्रतिवेदन के आधार पर दोषी चार सोनोग्राफी केन्द्रों के विरूध्द उक्त कार्रवाई की गई । जांच में चार सोनोग्राफी सेन्टरों में अनियमितता पाये जाने पर बालाजी मेडीकल सेन्टर अम्बाह, डा. पूनम गुप्ता विद्यावती हॉसपीटल मुरैना, डा. के.एन. मिश्रा आर.एल.चैरीटेबिल हॉस्पीटल मुरैना और डा. योगेन्द्र सिंह अनुवंसिक प्रयोग शाला मुरैना के पंजीयन तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिये गये हैं। 

 

सूर्य नमस्कार के संबंध में बैठक आज


सूर्य नमस्कार के संबंध में बैठक आज

मुरैना 27 दिसम्बर 2007 // राज्य शासन के निर्णय के अनुसार आगामी 12 जनवरी 08 को प्रात: 9.00 बजे सामूहिक सूर्य नमस्कार का आयोजन किया जाना है । इस आयोजन के लिए गठित जिला स्तरीय समिति कर बैठक का आयोजन 28 दिसम्बर 07 को कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में कलेक्टर कार्यालय में दोपहर 1.00 बजे किया जाएगा । सभी संबंधितों को इस बैठक में उपस्थित रहने के लिए आग्रह किया गया है।

 

महिला एवं बाल विकास विभाग में संविदा पर्यवेक्षक की चयनित सूची जारी


महिला एवं बाल विकास विभाग में संविदा पर्यवेक्षक की चयनित सूची जारी

मुरैना 27 दिसम्बर 2007 // म.प्र. राज्य व्यवसायिक परीक्षा मण्डल द्वारा महिला एवं बाल विकास विभाग में संविदा पर्यवेक्षक पद पर चयनित निम्नलिखित अभ्यर्थियों की पदस्थापना आदेश जारी किये गये है ।

    जिला महिला एवं बाल विकास कार्यालय द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार श्रीमती भूमिका साहू, श्रीमती संदीप गिरी,श्रीमती सुषमा बरेलिया, श्रीमती भावना बडोदिया को एवाविपरियोजना जौरा,  श्रीमती प्रिया जादौन को एवविपरियोजना सबलगढ, श्रीमती सीमा गुप्ता, श्रीमती रत्ना प्रभा शेखर, श्रीमती अमिता शाक्य, श्रीमती अल्पना उसगर को एवविपरियोजना पोरसा, श्रीमती मीना शर्मा, श्रीमती बंदना दंडोतिया को एववपरियोजना अम्बाह, श्रीमती अखिलेख तोमर, श्रीमती सुषमा शर्मा एवं श्रीमती कुसुम यादव एवावि परियोजना मुरैना (शहरी) के लिए चयनित हुई है ।

 

तीन बी.एम.ओ को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी


दौरा डायरी प्राप्त होने पर ही वेतन आहरित करें – कलेक्टर

तीन बी.एम.ओ को कारण बताओ सूचना-पत्र जारी

मुरैना 27 दिसम्बर 2007 // कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी ने गत दिवस स्वास्थ्य कार्यक्रमों की विस्तृत समीक्षा की और जननी सुरक्षा योजना में रूचि लेकर कार्य नहीं करने वालों के प्रति कार्रवाई करने के निर्देश दिए । बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. विकास दुबे और खंड चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे।

       बैठक में कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने पोरसा, जौरा और कैलारस के तीन बी.एम.ओ. के द्वारा क्षेत्र में भ्रमण न किये जाने पर कारण बताओ सूचना पत्र जारी करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिये । उन्होंने कहा कि खण्ड चिकित्सा अधिकारियों की दौरा डायरी प्राप्त होने पर ही वेतन आहरित करें । श्री त्रिपाठी ने कहा कि टीकाकरण के लिए निर्धारित दिवस मंगलवार और शुक्रवार को ए.एन.एम.का क्षेत्र में भ्रमण सुनिश्चित कराया जाय । खंड चिकित्सा अधिकारी स्वत: पर्यवेक्षण कर यह देखें कि ए.एन.एम.शुक्रवार को क्षेत्र में जा रही हैं अथवा नहीं । नियमित भ्रमण नहीं करने वाली ए.एन.एम.के बिरूध्द कार्रवाई की जाय । बैठक में बताया गया कि पहाडगढ़ में जननी सुरक्षा वाहन कन्हार में ही सेन्ट्रल प्लेस बनाकर रखा जाये, जिससे मरीजों के आवागमन में सुविधा हो सके । बैठक में अंधत्व निवारण, मलेरिया उन्मूलन, प्रसव परिवहन और क्षय नियंत्रण आदि पर विस्तार से चर्चा हुई । 

 

रेत का अवैध परिवहन करते हुए पांच ट्रेक्टर पकड़े


रेत का अवैध परिवहन करते हुए पांच ट्रेक्टर पकड़े

मुरैना 27 दिसम्बर 2007 // कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी एवं पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह के निर्देशन में राजस्व, वन एवं पुलिस विभाग की संयुक्त टीम द्वारा कार्रवाई कर गत दिवस अवैध रेत से भरे पांच ट्रेक्टर- टोली जब्त किये गये ।

    निरीक्षण के दौरान नैनागढ़ रोड पर रेत से भरे ट्रेक्टर- ट्राली पाये गये । ट्रेक्टर ट्रालियों के वाहन चालक निरीक्षण दल को देखकर अपने अपने- अपने वाहनों को लेकर भागने लगे, किन्तु पुलिस के जवानों ने इनका पीछा कर इन्हें धर दबोचा । पकड़े गये ट्रेक्टर-ट्रोलियों के वाहन चालकों के पास रेत की बिक्री से संबंधित अधिकृत दस्तावेज नही पाये गये । इन ट्रेक्टर- ट्रोलियों पर वाहन नंबर भी नहीं पाये गये । ट्रेक्टरों को सिटी कोतवाली मुरैना में जब्त कर लिया गया है और वन विभाग द्वारा मामला दर्ज कर वाहनों को राजसात करने की कार्यवाही की जा रही है । निरीक्षण दल में अनुविभागीय अधिकारी श्री विजय अग्रवाल, नगर पुलिस अधीक्षक श्री जयबीर सिंह भदौरिया एवं वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी शामिल थे । 

 

कलेक्टर ने दिए पांच वर्ष तक की आयु के शत-प्रतिशत बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाने के निर्देश


6 जनवरी को एक बार फिर दो बूंद

कलेक्टर ने दिए पांच वर्ष तक की आयु के शत-प्रतिशत बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाने के निर्देश

 

मुरैना 27 दिसम्बर 2007// कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी ने पल्स पोलियो अभियान के तहत पांच वर्ष तक की आयु के शत-प्रतिशत बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाना सुनिश्चित करने के स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए हैं । यह निर्देश कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने गत दिवस यहां जिला टास्कफोर्स की बैठक में दिए । जिले में पल्स पोलियो अभियान के तहत 6 जनवरी 08 को पांच वर्ष तक की उम्र के 3 लाख 32 हजार 833 बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जाएगी।

       श्री त्रिपाठी ने कहा कि अभी यह न समझें कि पोलियो नष्ट हो गया है । अभी भी उत्तर प्रदेश में 21, बिहार में 34, आन्ध्र प्रदेश में 5, हरियाण में 2, राजस्थान में 2, महाराष्ट्र में 2, गुजरात में 1, उडीसा में 1, बैस्ट बंगाल में 1 कैसेज मिले हैं । श्री त्रिपाठी ने स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा कि वे अपने मैदानी अमले को चुस्त-दुरूस्त करें और अभियान की सफलता के लिए ऐसी रणनीति बनाएं कि पांच वर्ष तक की आयु का एक भी बच्चा दवा पीने से नहीं छूटे । कलेक्टर ने कहा कि शत-प्रतिशत कव्हरेज के लिए यह जरूरी है कि अभियान से जुड़े हुए हर विभाग के अमले और स्वयं सेवी संस्थाओं के बीच बेहत्तर समन्वय हो । स्वास्थ्य विभाग का हर स्वास्थ्य कार्यकर्ता दवा पिलाने के लिए ईमानदारी से काम करे । आंगनवाडी केन्द्रों पर भी बच्चों को दवा पिलवाना सुनिश्चित किया जाए।

कलेक्टर ने कहा कि जो आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका पल्स पोलियो में सहयोग नहीं करेंगी, उनकी सेवा समाप्त कर दी जायेगी और नई भर्ती की जायेगी । श्री त्रिपाठी ने बच्चों को दवा पिलवाने के लिए विशेष इंतजाम करने के स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए । उन्होंने 6 जनवरी को बच्चों को दवा पिलवाने और बच्चों को बूथों तक लाने में शिक्षकों का सहयोग लेने की व्यवस्था करने के जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए। उन्होंने पल्स पोलियो अभियान की सफलता के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार कराने के लोक स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए । इसके लिए उन्होंने गांव-गांव में मुनादी कराने और माईक से प्रचार कराने की हिदायत दी । कलेक्टर ने रेल्वे स्टेशन, बस स्टेण्ड और दुर्गम क्षेत्रो में बच्चों को दवा पिलाने के विशेष इंतजाम रखने को कहा ।

कलेक्टर ने 6 जनवरी को इस अभियान की गतिविधियों के पर्यवेक्षण के लिए अधिकारियों के विशेष जांच दल बनाने के लोक स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए। यह दल ग्रामीण क्षेत्रों तक जाकर पर्यवेक्षण का काम करेगा । कलेक्टर ने स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा कि वे यह सुनिश्चित करें कि अभियान की सफलता के लिए कार्यकर्ता गंभीरता से कार्य करें । लोगों को प्रेरित किया जाए कि वे अपने पांच वर्ष तक की आयु के बच्चों को 6 जनवरी को टीकाकरण बूथों पर लाकर दवा अवश्य पिलवाएं । उन्होंने कहा कि शत-प्रतिशत कव्हरेज के लिए कुशल रणनीति बनाई जाए । उन्होंने अभियान के दौरान पांच वर्ष तक के बच्चों को टीकाकरण बूथों पर पहुंचाने और अभिभावकों से अपने बच्चें को बूथों पर लाकर दवा पिलवाने की अपील भी की । बैठक में लोक स्वास्थ्य विभाग एवं स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों समेत विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया । जिले में पोलियो रोधी खुराक देने के लिए 2 हजार बूथ बनाए गए हैं और करीब 5 हजार 500 कर्मचारी पांच वर्ष तक की उम्र के तीन लाख 32 हजार 833 बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाएंगे । रेल्वे स्टेशन और बस स्टेण्ड आदि के लिए 96 ट्रांजिट बूथ बनाए गए हैं । पर्यवेक्षण कार्य के लिए 264 सुपरवाईजरों की डयूटी लगाई गई है । सुदूर अंचलों तक पोलियो रोधी खुराक देने के लिए 36 मोवाइल टीमें बनाई गई हैं ।

 

शीत लहर के साथ सर्दी फिर लौटी


DSC01147 ग्‍वालियर 27 दिसम्‍बर । हल्‍की शीत लहर के साथ ग्‍वालियर चम्‍बल में सर्दी ने दोबारा दस्‍तक दे दी है । हालांकि दोपहर के वक्‍त की गर्मी अभी जारी है, लेकिन सुबह, शाम और रात की सर्दी फिर से अंचल में ठिठुराने लगी है ।

अभी दो दिन पहले अंचल में जहॉं अचानक लोगों को होली के दिनों के मौसम का अहसास होने लगा था वहीं अब पुन: लोगों को वापस मार्च से दिसम्‍बर में आना पड़ा है ।

हालांकि शुरू में अचानक तेज शीत लहर और सर्दी के प्रकोप से अनेक वृद्धों की अंचल में मौत हो गयी थी । किन्‍तु सर्द हवाओं के थमने के बाद लोगों को कुछ राहत सी महसूस हुयी । 

संभाग आयुक्त ने ग्रामीण अंचल का भ्रमण कर राहत, पेयजल, विद्युत व स्वास्थ्य सेवाओं का लिया जायजा


संभाग आयुक्त ने ग्रामीण अंचल का भ्रमण कर राहत, पेयजल,

विद्युत व स्वास्थ्य सेवाओं का लिया जायजा

 

 

मुरैना 26 दिसम्बर 07 ॥ अल्प वर्षा की बजह से उत्पन्न हुई परिस्थितियों को ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किये गये रोजगार, पेयजल, विद्युत एवं सिंचाई संबंधी कार्यों को गति देने के उद्देश्य से चंबल एवं ग्वालियर संभाग के आयुक्त डा. कोमल सिंह ने आज मुरैना जिले के ग्रामीण अंचलों का जायजा लिया । उन्होंने खासतौर पर जिले की अम्बाह व पोरसा तहसील के ग्रामीणों से रूवरू होकर उनकी कठिनाईयां व समस्यायें जानी और शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की वास्तविक स्थिति का जायजा भी लिया।  इस मौके पर कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी, मुख्य अभियन्ता विद्युत श्री जी.एस. कलसी, मुख्य अभियन्ता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री राय तथा अन्य संबंधित अधिकारी उनके साथ थे ।

       संभाग आयुक्त ने अम्बाह तहसील के ग्राम थरा में संचालित शासकीय माध्यमिक एवं प्राथमिक विद्यालय के निरीक्षण के दौरान यहां बनाये गये अतिरिक्त कक्ष की गुणवत्ता ठीक न होने पर नाराजगी व्यक्त की । उन्होंने इसकी जांच कराने और संबंधित के खिलाफ भृष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई करने के निर्देश दिये । यह अतिरिक्त कक्ष सर्वशिक्षा अभियान के तहत पालक शिक्षक संघ द्वारा बनाया गया है । डा. कोमल सिंह ने प्राथमिक विद्यालय के बच्चों से मध्यान्ह भोजन वितरण के संबंध में भी चर्चा की । यहां के एक बच्चे धर्मसिंह ने बताया कि उसे मध्यान्ह भोजन में दाल रोटी सब्जी मिलती है और कभी -कभी खीर पूड़ी भी मिलती है । यहां के माध्यमिक विद्यालय में अभी तक मध्यान्ह भोजन शुरू नहीं हुआ है । कमिश्नर ने इस पर नाराजगी जताई और कहा इस विद्यालय में गत एक नवम्बर से मध्यान्ह भोजन वितरण क्यों शुरू नहीं हो सका, इसकी जांच की जाये ।

       भ्रमण के दौरान संभाग आयुक्त ने ग्रामीणों से रूबरू होकर राशन व मिट्टी के तेल वितरण तथा पेयजल के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की । उन्होंने संबंधित अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा वे इस पर ध्यान रखें कि उचित मूल्य की दुकानें नियमित रूप से खुलें और पात्रता अनुसार सामग्री वितरण हो,  इसमें किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

 

गरीब मरीजों को उपचार योजना का लाभ मिलने में कठिनाई न हो – डा. कोमल सिंह


गरीब मरीजों को उपचार योजना का लाभ मिलने में कठिनाई न हो – डा. कोमल सिंह

कमिश्नर ने किया जिला चिकित्सालय मुरैना का आकस्मिक निरीक्षण

 

 

मुरैना 26 दिसम्बर 2007 // चंबल एवं ग्वालियर संभाग के आयुक्त डा. कोमल सिंह ने कहा है कि शासकीय अस्पतालों में गरीबी रेखा के नीचे के मरीजों के साथ पूरी संवेदनशीलता वरती जाए और उन्हें दीनदयाल अन्त्योदय उपचार योजना के तहत नि: शुल्क चिकित्सा सुविधा मिलने में कोई कठिनाई न हो । उन्होंने यह निर्देश आज जिला चिकित्सालय मुरैना के आकस्मिक निरीक्षण के समय सबंधित अधिकारियों को दिये । संभाग आयुक्त ने मुरैना जिले में दीनदयाल अन्त्योदय उपचार योजना के कार्ड तत्परता से बनाने की जहाँ सराहना की वहीं इस योजना के तहत सभी पात्र मरीजों को लाभन्वित कराने के लिए अस्पतालों में विशेष प्रबंध करने के निर्देश भी दिये। गौरतलब है कि मुरैना जिले में दीनदयाल अन्त्योदय उपचार योजना के तहत अब तक 63 हजार से अधिक कार्ड बनाकर वितरित किये जा चुके हैं ।  जिला चिकित्सालय के निरीक्षण के समय कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी भी उनके साथ थे।

       संभाग आयुक्त ने शासकीय अस्पतालों व ग्रामीण स्वास्थ्य सेवाओं को और सुदृढ बनाने पर जोर देते हुये हिदायत दी कि मुख्य चिकित्साधिकारी हर सप्ताह कम से कम एक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का आकस्मिक निरीक्षण अवश्य करें। इसी प्रकार संबंधित खण्ड चिकित्साधिकारी भी अपने क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों का निरीक्षण करें। उन्होंने जननी सुरक्षा योजना का लाभ सभी पात्र महिलाओं को दिलाने और संस्थागत प्रसवों की संख्या में इजाफे के लिए विशेष प्रयास किये जाने पर बल दिया। आयुक्त ने जिला चिकित्सालय मुरैना के हर वार्ड में जाकर मरीजों को मुहैया कराई जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने जिला चिकित्सालय के नवीनीकरण के लिए कराये जा रहे निर्माण कार्यों का अवलोकन किया और इन कार्यों को जल्द पूर्ण कराने के निर्देश दिये। कमिश्नर ने इस हेतु शीघ्र आवंटन प्राप्त करने के लिए भोपाल स्थित वरिष्ठ अधिकारियों से दूरभाष पर बात भी की।

 

« Older entries

%d bloggers like this: