नव संवत्‍सर में ग्रह स्‍थतियां एवं संवत्‍सर परिचय- नरेन्‍द्र सिंह तोम र ‘’आनंद’’


विक्रम वर्ष – विक्रम संवत 2068 , शक संवत 1933, यह नवीन वर्ष श्री क्रोधी एवं विश्‍वावसु नामकीय संवत्‍सर की गणना से प्रभावशील है । इस वर्ष के अधिपति सूर्य नारायण हैं तथा उपेश पद प्रभार चंद्र देव को मिला है । वर्ष का प्रधानमंत्री पदभार देवगुरू बृहस्‍पति को मिला है, सस्‍य विभाग शनिदेव पर एवं धान्‍य विभाग दैत्‍य गुरू भृगु -शुक्र देव को मिला है, मेघ पर्जन्‍य नायक पद का का अधिभार चंद्र सुत बुध देव के पास है, रसेश – चंद्र देव, नीरसेश – शनिदेव, फलेश- बुध, धन वित्‍त – शनिदेव, रक्षा –जल थल नभ आणविक शक्‍ति- बुध को मिले हैं ।

//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: