story of Delhi ki Killi ( Louh Stambh ) and 3 Gupt Bhairav Chaalisa of Pandavas


ग्वालियर टाइम्स प्रस्तुत करती है, श्री भैरव जी के दूसरे एवं तीसरे चालीसा के साथ सुनिये व देख लीजिये कैसे बनी इंद्रप्रस्थ से दिल्ली , कैसे इंद्रप्रस्थ नाम पड़ा दिल्ली , और किसे गाड़ी , कब व कैसे , क्यों गाड़ी दिल्ली में मंत्रित किल्ली , क्यों हो गई किल्ली ढिल्ली , मंत्रित किल्ली ढिल्ली होने का क्या हुआ ज्योतषीय व तांत्रिक असर , दोबारा फिर गाड़ी गई किल्ली , क्या होगा असर दोबारा किल्ली गाड़ने का , इसके साथ ही सुनिये पांडवों के भैरव जी के चालीसे , जानिये पांडव अर्जुन के वंशजों और तोमर राजवंश के बारे में , जानिये परमवीर दिल्लीपति महाराजा अनंगपाल सिंह तोमर के बारे में , जानिये महाभारत का और इंद्रप्रस्थ का भौगोलिक नक्शा, तोमर राजवंश की कुल देवी मॉं महाकाली कामाख्या भवानी योगेश्वरी योगमाया ( चिल्हासन , चिलाय माता) और उनके पुत्र री बटुक भैरव यानि काशी के कोतवाल के बारे में सुनिये उनके चालीसे
स्वर व उच्चारण – नरेन्द्र सिंह तोमर ”आनन्द”
ग्वालियर टाइम्स प्रस्तुत करती है
Presented By Gwalior Times
http://m.facebook.com/ Tomarrajvansh/
गुगल प्लस , ट्वि‍टर तथा लिंकइन पर भी यह वीडियो फिल्म उपलब्ध है

//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: