सबई भूमि गोपाल जी की, भारत पाकिस्तान का बंटवारा अवैध व फर्जी , स्वामित्वहीन सरकार


भारत पाकिस्तान का बंटवारी फर्जी और अवैध , किसी भी सरकार के पास आज तक नहीं है भारत का या अन्य किसी देश का स्वामित्व
केवल कब्जा ही कब्जा है , इन मिसाइलों में केवल धुंआ ही धुंआ बचा है , फयूज कण्डक्टर तो आज तक किसी और के पास हैं
नरेन्द्र सिंह तोमर ”आनन्द” , एडवोकेट , मुरैना , म.प्र.
एक शानदार जानदार व रोचक जानकारी – भारत के आज के संविधान और आज प्रचलित कानून के मुताबिक भी , भारत सरकार और पाकिस्तान , बर्मा, बंगलादेश सहित तमाम देशों सरकारों के पास इन देशों की किसी भी सम्पत्ति‍ , भूमि या अन्य किसी भी भौतिक वस्तु व मानव मात्र पर स्वामित्व नहीं है , महज मात्र एक कब्जाधारी के रूप में अतिक्रामक व केवल कब्जाधारी सरकारें हैं , इनमें से स्वामित्व किसी के पास भी नहीं हैं ।
इसे कुछ यूं समझें , कानून में ( अंग्रेजों का बनाया हुआ जो आज तक देश में चिथड़े लग लग कर चल रहा है) किसी भी संपत्त‍ि , का स्वामित्व एक अलग बात है , एक अलग विषय व तथ्य है, तथा संपत्त‍ि पर स्वामी के बजाय किसी अन्य का कब्जा या अवैध कब्जा होना दूसरी बात है , जिसे कानून नहीं मानता और ऐसे फर्जी व अवैध कब्जाधारी को अवैध व उसके विरूद्ध आपराधि‍क एवं सिविल कार्यवाही की जाती है । यानि स्वामी और अवैध कब्जाधारी , या संपत्त‍ि के स्वामी से भि‍न्न किसी अन्य का कब्जा , एक अतिक्रमण एवं दंडनीय अपराध व सिविल कार्यवाही दोनों ही प्रकार का मामला है ।
अब आते हैं असल बात पर , चलिये जरा पीछे चलें , सन 1947 में 14 अगस्त और 15 अगस्त को , अंग्रेजों ने भारत व पाकिस्तान को सत्ता का हस्तांतरण किया , अब सवाल ये है कि , अंग्रेज सत्ता हस्तांतरण करने वाले कौन , क्या वे इसके लिये अधि‍कृत थे , जी नहीं बिल्कुल नहीं कतई नहीं, अंग्रेज भारत पाकिस्तान की किसी भी संपत्त‍ि या मानव मात्र के स्वामी नहीं थे , उनके पास स्वामित्व नहीं था , में महज जबरन अवैध कब्जा करने वाले मात्र अतिक्रामक थे , मुगल भी महज अवैध कब्जाधारी अतिक्रामक अपराधी थे , कुल मिलाकर भारत या अन्य देशों का स्वामित्व अंग्रेजों या मुगलों के पास नहीं था , उनका किसी ने या भारत या अन्य देश के स्वामित्व धारीयों द्वारा राजतिलक या राज्याभि‍षेक नहीं किया , न उनके गुलाम व नियंत्रणाधीन उनके गुलाम राजाओं व चमचों , व फर्जी राजाओं को इन देशों का असली स्वामित्व धारी कभी स्वामित्व का हस्तांतरण किया गया ।
एक फर्जी व अवैध कब्जाधारी अतिक्रामक अपराधी कभी भी जो कि स्वयं ही स्वामित्व नहीं रखता , किसी को भी स्वामित्व का या सत्ता का हस्तांतरण या कब्जा नहीं दे सकता या कर सकता ।
भारत सहित अन्य देशों को आज तक इन देशों की सरकारों को , इन देशों के असली स्वामी द्वारा आज दिनांक तक स्वामित्व का हस्तांतरण नहीं किया गया ।
केवल फर्जी व अवैध कब्जाधारीयों द्वारा , एक अन्य को कब्जा हस्तांतरण मात्र हुआ , यानि घर में घुस बैठे गुंडों द्वारा किसी घर पर कब्जा किया गया और दूसरे गुण्डों को कब्जा सौंपकर आगे निकल गये , संपत्त‍ि का स्वामी बेचारा शान्त अलग बैठा , गुण्डों द्वारा उसकी संपत्त‍ि व घर से बेदखल किया गया , मजदूरी , खेती किसानी कर रहा है । उसने तो स्वामित्व आज तक किसी को कभी दिया ही नहीं ।
कुल मिलाकर निष्कर्ष यह निकला कि भारत सहित अन्य देशों की सरकारों ने एक अवैध कब्जाधारी जबरन घर में आ घुसे गुण्डे से , दूसरे गुण्डे की तरह कब्जा मात्र हस्तांतरित किया है , इनमें से किसी के पास स्वामित्व आज तक नहीं है , न असल स्वामी द्वारा इन्हें स्वामित्व हस्तांरित किया गया ।
इस बिना पर और इस ठोस तर्क के आधार पर एक अवैध कब्जाधारी चाहे वह ( आज पुकारी जाने वाली सो कॉल्ड सरकार ही क्यों न हो) स्वामित्वहीन महज एक अवैध कब्जाधारी है , उसे न संविधान बनाने के , न कानून बनाने के और न देश चलाने के अख्त्यारात हासिल हैं । अवैध कब्जाधारीयों को किसी भी प्रकार के अख्त्यारात हासिल नहीं होते, इसी तर्क व आधार के प्रकाश में एकदम साफ व स्पष्ट है कि भारत के संविधान की धारा 370 अवैध व फर्जी है, इसके अलावा बल्लभभाई पटेल द्वारा जितनी भी अंग्रेजों की गुलाम व चमचों की सो कॉल्ड रियासतों या अंग्रेजों के गुलाम राजाओं से किये गये भारत संघ में विलय संबंधी सारे मर्जर एग्रीमेण्ट फर्जी व जाली हैं , और ये सभी अवैध कब्जाधारी थे न कि असल स्वामी, और अवैध कब्जाधारी किसी प्रकार का मर्जर एग्रीमेण्ट या स्वामित्व का हस्तांतरण नहीं कर सकते , केवल गुण्डा अपना अवैध कब्जा , दूसरे गुण्डे को कब्जा हस्तांतरण कर सकता है , और सारे के सारे मर्जर एग्रीमेण्ट स्वामित्व विहीन , केवल कब्जा का हस्तांतरण मात्र हैं ।
पाकिस्तान का स्वामित्व भारत के पास था , पाकिस्तान का कब्जा किसी को भी न तो अंग्रेज दे सकते थे न कोई और , क्योंकि दरअसल सन 1947 में स्वामित्व का हस्तातरण हुआ ही नहीं था , अंग्रेज भारत के स्वामी नहीं थे , इसलिये स्वामित्व का हस्तांतरण नहीं कर सकते थे , केवल कब्जा हस्तातंरण कर सकते थे , सो किया , न भारत का स्वामित्व आज तक और न पाकिस्तान का या अन्य किसी भी देश का स्वामित्व इनमें से किसी भी सरकार के पास है और न कब्जे के कानूनी अधि‍कार हासिल हैं ,न सरकार चलाने के, और न किसी सम्पत्त‍ि या देश या भूमि का बंटवारा आदि करने के ।
नरेन्द्र सिंह तोमर ”आनन्द” , एडवोकेट , मुरैना , म.प्र.

हरियाणा का सपना चौधरी कांड, तोमर राजवंश हरकत में आया , सतपाल तंवर को तुरंत व तत्काल अरेस्ट करने हेतु तोमर राजवंश के अध‍िकृत लेटरहेड पर जारी होगा पत्र , आवश्यकतानुसार राजाज्ञा जारी कराई जा सकती है – नरेन्द्र सिंह तोमर , मुरैना , म.प्र.


हरियाणा का सपना चौधरी कांड, तोमर राजवंश हरकत में आया , सतपाल तंवर को तुरंत व तत्काल अरेस्ट करने हेतु तोमर राजवंश के अध‍िकृत लेटरहेड पर जारी होगा पत्र , आवश्यकतानुसार राजाज्ञा जारी कराई जा सकती है – नरेन्द्र सिंह तोमर , मुरैना , म.प्र.
”तंवर” सरनेम, क्षत्रिय राजपूतों का है, और महाभारत सम्राट के कुल चन्द्रवंशीय क्षत्रिय राजपूतों की क्षत्तीस कुली के ”तोमर ” कुल द्वारा यह आदिकाल से प्रयोग किया जाता रहा है, इसे यदि किसी एस.सी. एस. टी. द्वारा या पिछडे वर्ग द्वारा प्रयोग किया गया है, या किया जा रहा है,तो यह भारतीय दण्ड संहिता के तहत गंभीर आपराधि‍क षडयंत्र व जालसाजी व कूटरचना व फर्जीवाड़े का कृत्य है तोमर क्षत्रिय राजपूत राजवंश इस संबंध में सभी संबंध‍ित लोगों के विरूद्ध जिन्होंनें यह सरनेम किसी भी ओ.बी.सी. या एस.सी. एस. टी; में शामिल किया है कि विरूद्ध जालसाजी, कूटरचना करने, फर्जीवाड़ा करने, अशुद्ध दस्तावेज रचने, मिथ्या साक्ष्य गढ़ने , व उसका उपयोग करने, इस सरनेम को किसी भी अन्य जाति को प्रदत्त करने, या तंवर सरनेम धारी को किसी भी आरक्ष‍ित वर्ग में घांष‍ित करने, शामिल करने के सम्बन्ध में आपराध‍िक प्रकरण दर्ज करने हेतु आई.पी.सी. की संबंध‍ित धाराओं में तथा 120 बी एवं 34 सहित , आपराध‍िक भ्रष्टाचार करने, एवं अनु. जाति पर इस आराधि‍क साजिश रच कर उनका हक हरण करने , हक छीनने , के सम्बंध में एस.टी. एक्ट के तहत भी एवं भ्रष्टाचार निवारण ( उन्मूलन ) अध‍िनियम के तहत भी मामला पंजीबद्ध करने तथा यह कब से चल रहा है , और किस किसने यह साजिश रची व अपराध किया , कौन कौन लोग इस साजिश में शामिल हैं, एवं इसका अनुचित व नाहक व गैर वाजिब व गैर कानूनी लाभ उठाया , इसकी उच्च स्तरीय जांच करा कर जब से भी यह फर्जीवाड़ा शुरू हुआ , जिसने भी ”तंवर” सरनेम को किसी आरक्ष‍ित या संश्रय प्राप्त संरक्ष‍ित वर्ग में शामिल किया है , उन्हें तुरन्त प्रकरण दर्ज कर दाखि‍ल ए हवालात किया जाये , एवं ऐसे किसी व्यक्त‍ि द्वारा यदि आरक्षण का या किसी अन्य प्रकार का कोई लाभ प्राप्त किया गया है या किसी भी प्रकार से इस सरनेम ”तंवर” का दुरूपयोग किया गया है , तो उनकी समस्त वंशावली की पुष्टि की जाये व उसे जप्त किया जाये , बिना वंशावली का कोई भी व्यक्त‍ि क्षत्तीस कुली के किसी भी कुल का कोई सरनेम उपयोग या प्रयोग नहीं कर सकता , और यदि किसी के द्वारा फर्जी तौर पर इनमें से किसी सरनेम का प्रयोग या उपयोग किया जाता है तो वह जालसाजी, कूटरचना व धोखाधड़ी व आपराध‍िक षडयंत्र रचे जाने का खुद ब खुद स्वत: ही स्पष्ट सिद्ध दोष अपराधी है , यह पत्र अत्यंत शीघ्र ही ”तोमर क्षत्रिय राजपूत राजवंश” महाभारत सम्राट एवं महाभारत योद्धा अर्जुन के वंशज व महाभारत के अंतिम समाट दिल्लीपति महाराजा अनंगपाल सिंह तोमर की 23 वीं पीढ़ी द्वारा जल्द जारी किया जायेगा , उल्लेखनीय है कि , हरियाणा में किसी सतपाल तंवर नामक व्यक्त‍ि द्वारा एक गायिका के जहर खाने के प्रकरण में खुद का सरनेम ”तंवर” लिख कर , एस. सी. एस.टी. एक्ट एक्सरसाइज किया , जिसे देख सुन कर तोमर क्षत्रिय एवं सभी तंवर क्षत्रिय राजपूत व राजवंश एवं राजपरिवार चौंक गया व भौंचक्क रह गया , राजवंश द्वारा जारी किये जा रहे पत्र में तथा कथ‍ित सतपाल नामक व्यक्त‍ि को ”तंवर” सरनेम के साथ एस.सी. एस.टी कहने व इस अध‍िनियम को एक्सरसाइज करने के मामले में तुरन्त व तत्काल अरेस्ट कर पता लगा जाये कि यह फर्जी सरनेम इस्तेमाल करने वाला जालसाज रैकेट और कहॉं कहॉं तक इस संपूर्ण भारत देश में फैला है ।

https://www.facebook.com/TomarRajvansh/posts/1329517340392435?notif_t=like&notif_id=1473522036754301https://www.change.org/p/%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%A7%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%AE%E0%A4%82%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%80-%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A4%A4-%E0%A4%B8%E0%A4%B0%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B0-%E0%A4%B9%E0%A4%B0%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE%E0%A4%A3%E0%A4%BE-%E0%A4%B8%E0%A4%AA%E0%A4%A8%E0%A4%BE-%E0%A4%9A%E0%A5%8C%E0%A4%A7%E0%A4%B0%E0%A5%80-%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%82%E0%A4%A1-%E0%A4%B8%E0%A4%A4%E0%A4%AA%E0%A4%BE%E0%A4%B2-%E0%A4%A4%E0%A4%82%E0%A4%B5%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A5%8B-%E0%A4%A4%E0%A5%81%E0%A4%B0%E0%A4%82%E0%A4%A4-%E0%A4%85%E0%A4%B0%E0%A5%87%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%9F-%E0%A4%95%E0%A4%B0%E0%A5%87%E0%A4%82-http-facebook-com-tomarrajvansh?recruiter=381187072&utm_source=share_petition&utm_medium=facebook&utm_campaign=share_for_starters_page&utm_term=des-lg-no_src-no_msg&fb_ref=Default

%d bloggers like this: